बार-बार पेशाब के कारण Frequent Urination in Hindi Health Tips in Hindi, Protected Health Information, Ayurveda Health Articles, Health News in Hindi बार-बार पेशाब के कारण Frequent Urination in Hindi - Health Tips in Hindi, Protected Health Information, Ayurveda Health Articles, Health News in Hindi

बार-बार पेशाब के कारण Frequent Urination in Hindi

फ़्रीक्विन्ट यूरिनरी इन्फेक्शन समस्या खासकर युवावर्ग और बुर्जगों में आजकल बहुत तेजी पकड़ में आ रही है। जोकि एक चिन्ता का विषय है। शोध में बार-.बार पेशाब आने की समस्या के पीछे कई कारण जैसेकि यूरिन इंफेक्शन, अनहेल्थी खानपान, डाईट, नींद न आने से और दैनिक दिनचर्या, अन्य क्रिया कलाप माने जाते हैं। बार - बार पेशाब समस्या में खान.पान बदलाव से समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। कुछ खास फूड्स यूरिन को प्रभावित करने वाली हैं। जिन्हें ध्यान में रखकर फ़्रीक्विन्ट यूरिनरी इन्फेक्शन से आसानी से निजात पाया जा सकता है।
बार-बार पेशाब के कारण / मूत्र रोग / पेशाब का बार बार आना - घरेलू उपचार / Frequent Urination in Hindi / Bar Bar Peshab ka Ilaj / Frequent Urination ka Upchar

बार-बार पेशाब के कारण, Frequent Urination in Hindi, बार बार पेशाब आने का कारण क्या है?,  treatment of frequent urination in Hindi, लगातार पेशाब आना , Frequent Urination ka upchar, पेशाब का बार बार आना- घरेलू उपचार , Home Remedies For Frequent Urination, बार बार पेशाब आने के घरेलू उपचार , bar bar peshab ka ilaj in hindi, बार-बार पेशाब , बहुमूत्र , Frequent urination, मूत्र रोग ,Urinary disease

जंकफूड
पेशाब बार-बार आने की समस्या में चाॅकलेट, टाॅफी, चिप्स, कुरकुरे, सेवन छोड़ देना चाहिए। जंकफूड सेवन पेशाब इंफेक्शन का एक कारण बन सकता है।

ठंड़ा पेय
सोड़ा, ठंड़ा, साॅफ्ट आर्टिफिशयल पेय पीने से पेशाब बार-बार आने की समस्या होती है। यूरिनरी इन्फेक्शन में सोड़ा ठंड़ा पेय सेवन छोड़ना फायदेमंद है। बाजार में मौजूद कैमिकल युक्त ठंड़ा पेय पीने से बचें। यह मात्र एक स्वाद है। केवल असली फलों का जूस ही पीयें।

शराब, बीयर निषेध 
बार-बार पेशाब आने का एक कारण शराब, बीयर, मादक पदार्थ सेवन है। पेशाब समस्या से बचने के लिए शराब, बीयर, मादक नशीलें पदार्थों सेवन छोड़ देना फायदेमंद है।

ज्यादा पानी पीना 
पेशाब बार-बार पेशाब आने का एक कारण ज्यादा मात्रा में पानी पीना भी है। पेशाब विकार में पानी हिसाब से पीयें, ज्यादा पानी पीने से बचें।

चटपटा मशालेदार खाना 
चटपटा मशालेदार खाना सेहत के लिए फायदेमंद नहीं है। पेशाब बार-बार पेशाब आने की समस्या में चटपटा मसालेदार खाना छोड़ देना चाहिए। यूरिनरी इन्फेक्शन से बचने के लिए मशालेदार चटपटा खाने से परहेज करें।

खट्टे फल 
बार-बार पेशाब आने का एक कारण खट्टे फलों नींबू, चबूतरा, मौंसमी आदि का लगातार सेवन है। पेशाब विकार में खट्टे फलों का सेवन नहीं करें।

प्याज परहेज 
पेशाब के बार बार आने पर प्याज खाना छोड़ना फायदेमंद है। पेशाब समस्या में प्याज बार-बार पेशाब आना लगा रहता है। प्याज पेशाब रोकने में सहायक नहीं माना जाता है।

टमाटर सेवन 
फ़्रीक्विन्ट यूरिनरी की समस्या में कुछ समय के लिए टमाटार सेवन रोक देना समझदारी का काम है। टमाटर पेशाब तेजी से बनाता है।

मीठे से परहेज 
पेशाब बार-बार समस्या में मीठा सेवन कम करना फायदेमंद है। मीठी चीजें बार-बार पेशाब समस्या बढ़ाती है।

खजूर परहेज
पेशाब बार-बार आने का कारण खजूर का लगातार सेवन एक कारण है। खजूर सेवन कुछ समय के लिए बन्द कर दें।

चाय, काॅफी, एनर्जी पेय
पेशाब बार-बार आने के पीछे एक कारण ज्यादा चाय, काॅफी, एनर्जी पेय पीना है। पेशाब समस्या में चाय, काॅफी, एनर्जी पेय सीमित मात्रा में सेवन करना फायदेमंद है।

किड़नी विकार 
बार-बार पेशाब आने का एक कारण किड़नी विकार है। नमक, मिर्चीला, तीखा खाने से बचें।

सर्दीयों में ठंड 
सर्दी मौसम में गर्म ऊनी कपड़े पहनें। ठंड़ लगना भी फ़्रीक्विन्ट यूरिनरी का एक कारण है।

अनैतिक काम वासना
पुरूर्षों में अनैतिक कामवासना (हस्तमैथुन ) गलत आदतें बार-बार पेशाब आने का एक कारण है। कामवासना गलत आदतों पर लगाम लगाना आवश्यक है।

मूत्र नली इन्फेक्शन 
पेशाब में इन्फेक्शन संक्रामण होना भी फ़्रीक्विन्ट यूरिनरी का एक कारण। पेशाब में जलन दर्द सूजन महसूस होने पर तुरन्त चिकित्सक से सलाह उपचार करवायें।