एमिकासिन इंजेक्शन Amikacin Injection Health Tips in Hindi, Protected Health Information, Ayurveda Health Articles, Health News in Hindi एमिकासिन इंजेक्शन Amikacin Injection - Health Tips in Hindi, Protected Health Information, Ayurveda Health Articles, Health News in Hindi

एमिकासिन इंजेक्शन Amikacin Injection

एमिकासिन क्या है ?

Amikacin / एमिकासिन अमीनोग्लाइकोसाइड एंटीबायोटिक्स दवा के समूह से है। एमिकासिन खास एंटीबायोटिक इंजेक्शन है। एमिकासिन का मुख्य रूप से उपयोग फेफड़े, त्वचा, पेट आंतों के संक्रमण, स्ट्रेटोकोकी, ईकोली, एन्ट्रोकोकी, निमानिया के कारण होने वाले बैक्टीरिया संक्रमण के उपचार में किया जाता है। एमिकासिन बैक्टीरिया को फैलने से रोकता है और शरीर से बैक्टीरिया नष्ट करता है। एमिकासिन का र्फामुला C22H43N5O13 है। और ड्रग क्लास Aminoglycoside है।

एमिकेसिन इंजेक्शन के प्रकार / Amikacin Injection Packing Types
  • एमिकेसिन इंजेक्शन पैक्ड : 1 Injection, 2ml Injection, 1 Vial, 10ml Injection, 1 Vial में उपलब्ध है।
  • एमिकेसिन इंजेक्शन क्षमता : 100mg, 250mg, 200mg, 500mg में उपलब्ध है।
आमतौर पर डाॅक्टर एमिकेसिन इंजेक्शन की सलाह इंट्रा एब्डोमिनल इन्फेक्शन, निमोनिया और बेक्टेरेमिया की संक्रमण स्थिति के अनुसार रोगी को दी जाती है।

चिकित्सक एमिकेसिन इंजेक्शन का प्रयोग तीन तरह से करते हैं / 3 Types of Amikacin Injection uses
1.  इंट्रा एब्डोमिनल इन्फेक्शन / Intra-Abdominal Infections
एक्सपटस इट्रा-पेट में संक्रमण के उपचार में एमिकेसिन इंजेक्शन प्रयोग करते हैं, जैसेकि ऐपेंडिसाइटिस, इकोली, पेरिटोनिटिस, एन्ट्रोकोकी और स्ट्रेटोको के कारण पेट आंतों के फोड़े संड़न हो सकती है।
2.  निमोनिया / Pneumonia
निमोनिया होने पर भी एमिकेसिन इंजेक्शन का प्रयोग किया जाता है। जोकि निमोनिया होने पर फेफडों के संक्रमण हेमोफिलस इन्फ्लूएंजा और स्ट्रैपटोकोकस निमोनिया संक्रमण को ठीक करता है।
3.  बेक्टेरेमिया /Bacteremia
स्टैफिलकोसी और स्ट्रेप्टोकोकस पायोजनेज की बजह से होने वाले रक्त संक्रमण रोकथाम उपचार में एमिकेसिन इंजेक्शन प्रयोग किया जाता है।

एमिकेसिन-इंजेक्शन, Amikacin-Injection, amikacin-injection-uses-in-hindi, amikacin-hindi

एमिकासिन इंजेक्शन का प्रयोग / Amikacin Injection uses
एमिकेसिन इंजेक्शन निम्न बीमारियों के लक्षणों के उपचार और रोकथाम के लिए किया जाता है:
  • नकारात्मक ग्राम जीवाणु संक्रमण
  • मूत्र मार्ग के संक्रमण
  • निमोनिया
  • पेट आंतों के संक्रमण
  • फेफड़ों का संक्रमण
  • रक्त संक्रमण
  • त्वचा संक्रमण
  • दिमागी बुखार
  • पेरिटोनिटिस
  • जोड़ों में संक्रमण
  • हड्डी संक्रमण
एमिकासिन इंजेक्शन दुष्प्रभाव / Amikacin Injection side effects
  • सिरदर्द 
  • सुनने में परेशानी / बहरापन
  • गुर्दे में कमजोरी
  • त्वचा पर चकत्ते 
  • त्वचा झुनझुनी,
  • उलटी  या मतली
  • मांसपेशियों में दर्द और ऐंठन
  • बुखार 
  • एनीमिया 
  • दस्त,
  • सुन्न होना,
  • चक्कर आना,
  • कानों में बजना या गर्जन
एमिकासिन इंजेक्शन में सावधानियां / Amikacin Injection Side Effects
  • गर्भवती महिलाओं के लिए एमिकेसिन इंजेक्शन मना है।
  • स्तनपान करने वाली महिलाओं में एमिकेसिन इंजेक्शन दुष्प्रभाव डालता है।
  • किडनी रोगी के लिए एमिकेसिन इंजेक्शन नुकसानदायक है।
  • एमिकेसिन इंजेक्शन भोजन के बाद लेना फायदेमंद है। खाली पेट लेने से बचें।
  • एलर्जी होने पर एमिकेसिन इंजेक्शन नहीं ली जा सकती है।
  • एमिकेसिन इंजेक्शन लेने के बाद चक्क्र सरदर्द होने पर वाहन नहीं चलायें।
  • एमिकेसिन इंजेक्शन के साथ साथ अन्य दवाई नहीं लें। दोनों में लगभग 1 घण्टे का अन्तराल रखें।
  • एमिकेसिन इंजेक्शन 45 से 60 मिनट के बाद असर दिखाना शुरू करता है।
एमिकेसिन इंजेक्शन डाॅक्टर सलाह से ही लें।